रेहाना भाभी की चुदाई compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit psychology-21.ru
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: रेहाना भाभी की चुदाई

Unread post by rajaarkey » 07 Nov 2014 15:55

रेहाना ने मुझसे कहा, तुम लाली के बगल में आ जाओ. मैं लाली के बगल

में आ गया. लाली ने मेरी लूँगी हटा दी और अपना हाथ मेरे लंड पर

रख दिया. उसके हाथ लगाने से मेरा लंड फंफनता हुआ खड़ा हो

गया. लाली उसे सहलाने लगी. मुझे मज़ा आने लगा. मैने कहा, अब इसे

मूह में ले लो. वो बोली, ज़रूर लूँगी, पहले थोड़ा सहलाने दो ना.

मैने कहा, ठीक है. थोड़ी देर तक सहलाने के बाद लाली उठ कर

बैठ गयी. उसने शरमाते हुए मेरे लंड का सूपड़ा अपने मूह में ले

लिया और चूसने लगी. रेहाना ने मुस्कुराते हुए पुछा, क्यों लाली, कैसा

लग रहा है. वो बोली, दीदी, बहुत अच्च्छा लग रहा है. रेहाना ने कहा,

मेरी बात मान जा और इसे अपनी चूत के अंदर भी ले ले. फिर और ज़्यादा

अच्च्छा लगेगा. वो बोली, बहुत दर्द होगा. रेहाना ने कहा, तू इतना डरती

क्यों है. मैं हूँ ना तेरे पास. उसने कहा, अच्छा, मुझे पहले

थोड़ी देर चूस लेने दो, फिर मैं भी अंदर लेने की कोशिश करूँगी.

लाली मेरा लंड चूस्ति रही. मैने अपना हाथ बढ़ा कर उसकी चूत पर

रख दिया लेकिन वो कुच्छ नहीं बोली. मैने पॅंटी के उपर से ही उसकी

चूत को सहलाना शुरू कर दिया तो वो सिसकारियाँ भरने लगी. थोड़ी देर

में ही उसकी चूत गीली हो गयी तो मैने पुचछा, कैसा लगा. वो बोली,

बहुत अच्च्छा. लाली अब तक पूरे जोश में आ चुकी थी. मैने कहा,

जब तू मेरा लंड अपनी चूत के अंदर लेगी तो तुझे और ज़्यादा अच्च्छा

लगेगा. वो बोली, ठीक है जीजू, घुसा दो, लेकिन बहुत धीरे धीरे

घुसाना. मैने कहा, थोड़ा दर्द होगा, ज़्यादा चिल्लाना मत. वो बोली,

मैं अपना मूह बंद रखने की कोशिश करूँगी. मैने कहा, ठीक है,

तू पहले अपने कपड़े उतार दे. वो बोली, मैने कपड़े ही कहाँ पहन रखे

हैं. मैने उसकी ब्रा और पॅंटी की तरफ इशारा करते हुए कहा, फिर

ये क्या है. वो बोली, क्या इसे भी उतारना पड़ेगा. मैने कहा, हां,

तभी तो मज़ा आएगा. उसने कहा, ठीक है, उतार देती हूँ.

इतना कह कर लाली खड़ी हो गयी और उसने अपने सारे कपड़े उतार दिए.

रेहाना मुझे देख कर मुस्कुराने लगी तो मैं भी मुस्कुरा दिया. लाली बेड

पर लेट गयी तो मैं लाली के पैरों के बीच आ गया. मैने उसके

पैरों को एक दम दूर दूर फैला दिया. उसके बाद मैने अपने लंड के

सूपदे को उसकी चूत पर रगड़ना शुरू कर दिया. वो जोश के मारे पागल

सी होने लगी और ज़ोर ज़ोर की सिसकारियाँ भरते हुए बोली, जीजू, बहुत

मज़ा आ रहा है, और ज़ोर से रागडो. मैने और ज़्यादा तेज़ी के साथ

रगड़ना शुरू कर दिया तो 2-3 मिनट में ही लाली ज़ोर ज़ोर की सिसकारियाँ

भरने लगी और झाड़ गयी.

लाली की चूत अब एक दम गीली हो चुकी थी इस लिए मैने अब ज़्यादा देर

करना ठीक नहीं समझा. मैने उसकी चूत की लिप्स को फैला कर अपने

लंड का सूपड़ा बीच में रख दिया. उसके बाद जैसे ही मैने थोड़ा सा

ज़ोर लगाया तो वो चीख उठी और बोली, जीजू, बहुत दर्द हो रहा है,

बाहर निकाल लो. मैने कहा, बस थोड़ा सा बर्दस्त करो. मेरे लंड का

सूपड़ा उसकी चूत में घुस चुका था. मैने फिर से थोड़ा सा ज़ोर

लगाया तो इस बार वो ज़ोर ज़ोर से चीखने लगी. उसने रोना शुरू कर

दिया तो रेहाना ने उसे चुप करते हुए कहा, दर्द को बर्दास्त कर तभी

तो तो मज़ा ले पाएगी. वो बोली, बहुत तेज दर्द हो रहा है, दीदी. रेहाना

उसका सिर सहलाने लगी तो थोड़ी ही देर में वो शांत हो गयी.

मेरा लंड इस उसकी चूत में 2" तक घुस चुका था. जब लाली चुप हो

गयी तो मैने फिर से ज़ोर लगाया तो मेरा लंड थोड़ा सा और घुस गया

और उसकी सील मेरे लंड के रास्ते में आ गयी. वो फिर से चीखने

लगी और बोली, जीजू, बाहर निकाल लो, मैं मर जाउन्गि, बहुत दर्द हो

रहा है, मेरी चूत फॅट जाएगी. मैने उसकी चुचियों को मसलते हुए

कहा, बस थोड़ा सा ही और है. थोड़ी देर तक मैं उसकी चुचियों को

मसलता रहा और उसे चूमता रहा तो वो शांत हो गयी. मुझे अब उसकी

सील को फाड़ना था.

मैने लाली की कमर को ज़ोर से पकड़ लिया पूरे ताक़त के साथ बहुत ही

ज़ोर का धक्का मारा. उसकी चूत से खून निकलने लगा. मेरा लंड उसकी

सील को फाड़ते हुए 4" से थोड़ा ज़्यादा अंदर घुस गया. लाली इस बार

कुच्छ ज़्यादा ही ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी तो रेहाना ने उसे चुप करते

हुए कहा, बस हो गया, अब रो मत. अब दर्द नहीं होगा, केवल मज़ा

आएगा. वो बोली, क्या पूरा अंदर घुस गया. रेहाना ने कहा, अभी कहाँ,

अभी तो आधा ही घुसा है. वो बोली, जब जीजू बाकी का घुसाएँगे तो

मुझे फिर से दर्द होगा. रेहाना ने कहा, नहीं, अब दर्द नहीं होगा, अब

तुझे मज़ा आएगा.

लाली जब शांत हो गयी तो मैने धीरे धीरे उसकी चुदाई शुरू कर

दी. उसे अभी भी दर्द हो रहा था और वो आहें भर रही थी. उसकी

चूत बहुत ही ज़्यादा टाइट थी इस लिए मेरा लंड आसानी से उसकी चूत

में अंदर बाहर नहीं हो पा रहा था. मैं उसे चोदता रहा तो वो

कुच्छ देर बाद वो धीरे धीरे शांत हो गयी. अब उसे भी कुच्छ कुच्छ

मज़ा आने लगा था. उसने सिसकारियाँ भरनी शुरू कर दी. रेहाना ने

पुछा, अब कैसा लग रहा है. वो बोली, अब तो मज़ा आ रहा है. रेहाना

ने कहा, पूरा अंदर घुस जाने दे तब तुझे और मज़ा आएगा, ये तो

अभी शुरुआत है. मैने उसे चोदना जारी रखा तो थोड़ी ही देर बाद

उसने अपना चूतड़ भी उठाना शुरू कर दिया.

क्रमशः.................


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: रेहाना भाभी की चुदाई

Unread post by rajaarkey » 07 Nov 2014 15:56

Rehana ki Bhabhi Chudai--6

gataank se aage...............

Rehana chali gayi. Lali ne thoda sa sharmate huye mere Lund par sabun

lagana shuru kar diya. Mujhe khoob maza aane laga. Uski aankhien bhi

gulabi si hone lagi. Thodi der baad wo boli, ab bas karoon ya aur

lagana hai. Maine kaha, thoda aur laga de, tere haath se sabun lagwana

mujhe bahut achchha lag raha hai. Wo sbun lagati rahi. Thodi hi der

mein jab mujhe laga ki ab mera juice nikal jayega to main kaha, ab

rahne do. Usne apna haath saaf kiya aur chali gayi.

Main nahane ke baad bahar aaya aur drawing room mein sofe par baith

gaya. Maine Rehana ko pukara, Rehana, jara tel to laga do. Lali mere paas

aayi aur boli, main hi laga doon kya. Maine kaha, ye to aur achchhi

baat hai. Tum hi laga do. Lali mere Lund par tel laga kar bade pyar se

malish karne lagi to main kuchh jyada hi josh mein aa gaya. Lali theek

mere Lund ke samne zamin par baith thi. Mere Lund se juice ki dhar

nikal padi aur seedhe Lali ke muh par ja kar girne lagi. Lali sharma

gayi aur boli, kya jiju, tumne mera muh ganda kar diya. Maine kaha,

tumhare tel lagane se main kuchh jyada hi josh mein aa gaya aur mere

Lund ka juice nikal gaya. Lao main saaf kar deta hoon. Wo boli, rahne

do, main khud hi saaf kar loongi. Lali bathroom mein chali gayi. Rehana

kitchen se mujhe dekh rahi thi aur muskura rahi thi. Rehana ne kaha, ab

tumhara kaam ban ne hi wala hai.

Nashta karne ke baad main dukan chala gaya. Raat ko main Lali ke liye

ek jhumki le aaya. Maine use jhumki di to wo khushi ke uchhal padi aur

Rehana ko dikhate huye boli, dekho didi, jiju mere liye kya laye hain.

Rehana ne kaha, tu hi unki eklauti saali hai. Wo tere liye nahin layenge

to aur kis ke liye layenge.

Raat ko khana kahne ke baad hum sone ke liye kamre mein aa gaye. Maine

Lali se mazak kiya, kyon Lali, mera Lund tujhe kaisa laga. Usne

sharmate huye kaha, jiju, ye bhi koyi poochhne ki baat hai. Maine

kaha, teri didi ko to bahut pasand hai, tujhe kaisa laga. Usne

sharmate huye, mujhe bhi bahut achchha laga. Maine poochha, tujhe kyon

achchha laga.

Wo boli, is liye ki aap ka bahut bada hai. Maine

poochha, jab main tumhari didi ke saath karta hoon tab kaisa lagta

hai. Wo boli, tab to aur jyada achchha lagta hai. Lekin jiju, ek baat

meri samajh mein nahin aati ki tumhara itna bada hai phir bhi didi ke

andar poora ka poora ghus jata hai. Maine kaha, teri didi ko iski

aadat pad gayi hai. Wo boli, lekin pahli baar jab aap ne ghusaya hoga

to didi dard ke mare bahut chillayi hogi. Maine kaha, dard to pahli

pahli baar sab auraton ko hota hai. Ise bhi hua tha aur ye khoob

chillayi bhi thi. Lekin Lali baad mein maza bhi to khoob aata hai. Tum

chaho to apni didi se poochh lo.

Lali ne Rehana se puchha, kyon didi,

kya jiju sahi kah rahe hain. Rehana ne kaha, haan Lali, tabhi to main

inse roj roj karwati hoon. Bina karwaye mujhe neend nahin aati. Tum

bhi ek baar inka andar le lo. Kasam se itna maza aayega ki tum bhi roj

roj karne ko kahogi. Lali boli, na baba na, mujhe bahut dard hoga kyon

ki mera to abhi bahut chhota hai. Rehana ne kaha, chhota to sabhi ka

hota hai. Lali boli, mujhe dard bhi to bahut hoga. Rehana ne kaha,

pagli, ek baar hi to dard hoga uske baad itna maza aayega ki tu saara

dard bhool jayegi. Tune dekha hai na ki kaise inka meri Choot mein sata

sat andar bahar hota hai. Wo boli, haan, dekha to hai. Rehana boli, phir

ek baar tu bhi andar le kar dekh le. Agar tujhe maza nahin aayega to

phir kabhi mat karwana. Wo boli, baad mein karwa loongi. Rehana ne kaha,

aaj kyon nahin. Wo boli, main kahin bhagi thode hi ja rahi hoon. Rehana

ne kaha, to phir aaj tu ise muh mein le kar choos le. Jab tera man

kahega tabhi ise andar lena. Wo boli, theek hai, main muh mein lekar

choos leti hoon.

Rehana ne mujhse kaha, tum Lali ke bagal mein aa jao. Main Lali ke bagal

mein aa gaya. Lali ne meri lungi hata di aur apna haath mere Lund par

rakh diya. Uske haath lagane se mera Lund phanphanata hua khada ho

gaya. Lali use sahlane lagi. Mujhe maza aane laga. Maine kaha, ab ise

muh mein le lo. Wo boli, jaroor loongi, pahle thoda sahlane do na.

Maine kaha, theek hai. Thodi der tak sahlane ke baad Lali uth kar

baith gayi. Usne sharmate huye mere Lund ka supada apne muh mein le

liya aur choosne lagi. Rehana ne muskurate huye puchha, kyon Lali, kaisa

lag raha hai. Wo boli, didi, bahut achchha lag raha hai. Rehana ne kaha,

meri baat man ja aur ise apni Choot ke andar bhi le le. Phir aur jyada

achchha lagega. Wo boli, bahut dard hoga. Rehana ne kaha, tu itna darti

kyon hai. Main hoon na tere paas. Usne kaha, achchha, mujhe pahle

thodi der choos lene do, phir main bhi andar lene ki koshish karungi.

Lali mera Lund choosti rahi. Maine apna haath badha kar uski Choot par

rakh diya lekin wo kuchh nahin boli. Maine panty ke upar se hi uski

Choot ko sahlana shuru kar diya to wo siskariyan bharne lagi. Thodi der

mein hi uski Choot geeli ho gayi to maine puchha, kaisa laga. Wo boli,

bahut achchha. Lali ab tak poore josh mein aa chuki thi. Maine kaha,

jab tu mera Lund apni Choot ke andar legi to tujhe aur jyada achchha

lagega. Wo boli, theek hai jiju, ghusa do, lekin bahut dheere dheere

ghusana. Maine kaha, thoda dard hoga, jyada chillana mat. Wo boli,

main apna muh band rakhne ki koshish karungi. Maine kaha, theek hai,

tu pahle apne kapde utar de. Wo boli, maine kapde hi kahan pahan rakhe

hain. Maine uski bra aur panty ki taraf ishara karte huye kaha, phir

ye kya hai. Wo boli, kya ise bhi utarna padega. Maine kaha, haan,

tabhi to maza aayega. Usne kaha, theek hai, utar deti hoon.

Itna kah kar Lali khadi ho gayi aur usne apne saare kapde utar diye.

Rehana mujhe dekh kar muskurane lagi to main bhi muskura diya. Lali bed

par let gayi to main Lali ke pairon ke beech aa gaya. Maine uske

pairon ko ek dam door door phaila diya. Uske baad maine apne Lund ke

supade ko uski Choot par ragadna shuru kar diya. Wo josh ke mare pagal

si hone lagi aur jor jor ki siskariyan bharte huye boli, jiju, bahut

maza aa raha hai, aur jor se ragdo. Maine aur jyada teji ke saath

ragadna shuru kar diya to 2-3 min mein hi Lali jor jor ki siskariyan

bharne lagi aur jhad gayi.

Lali ki Choot ab ek dam geeli ho chuki thi is liye maine ab jyada der

karna theek nahin samjha. Maine uski Choot ki lips ko phaila kar apne

Lund ka supada beech mein rakh diya. Uske baad jaise hi maine thoda sa

jor lagaya to wo cheekh uhti aur boli, jiju, bahut dard ho raha hai,

bahar nikal lo. Maine kaha, bas thoda sa bardast karo. Mere Lund ka

supada uski Choot mein ghus chuka tha. Maine phir se thoda sa jor

lagaya to is baar wo jor jor se cheekhne lagi. Usne rona shuru kar

diya to Rehana ne use chup karate huye kaha, dard ko bardast kar tabhi

to tu maza le payegi. Wo boli, bahut tej dard ho raha hai, didi. Rehana

uska sir sahlane lagi to thodi hi der mein wo shant ho gayi.

Mera Lund is uski Choot mein 2" tak ghus chuka tha. Jab Lali chup ho

gayi to maine phir se jor lagaya to mera Lund thoda sa aur ghus gaya

aur uski seal mere Lund ke raste mein aa gayi. Wo phir se cheekhne

lagi aur boli, jiju, bahar nikal lo, main mar jaungi, bahut dard ho

raha hai, meri Choot phat jayegi. Maine uski chuchiyon ko maslte huye

kaha, bas thoda sa hi aur hai. Thodi der tak main uski chuchiyon ko

masalta raha aur use choomta raha to wo shant ho gayi. Mujhe ab uski

seal ko phadna tha.

Maine Lali ki kamar ko jor se pakad liya poore takat ke saath bahut hi

jor ka dhakka mara. Uski Choot se khoon nikalne laga. Mera Lund uski

seal ko phadte huye 4" se thoda jyada andar ghus gaya. Lali is baar

kuchh jyada hi jor jor se chillane lagi to Rehana ne use chup karate

huye kaha, bas ho gaya, ab ro mat. Ab dard nahin hoga, kewal maza

aayega. Wo boli, kya poora andar ghus gaya. Rehana ne kaha, abhi kahan,

abhi to aadha hi ghusa hai. Wo boli, jab jiju baki ka ghusayenge to

mujhe phir se dard hoga. Rehana ne kaha, nahin, ab dard nahin hoga, ab

tujhe maza aayega.

Lali jab shant ho gayi to maine dheere dheere uski chudayi shuru kar

di. Use abhi bhi dard ho raha tha aur wo aahein bhar rahi thi. Uski

Choot bahut hi jyada tight thi is liye mera Lund aasani se uski Choot

mein andsr bahar nahin ho pa raha tha. Main use Chodta raha to wo

kuchh der baad wo dheere dheere shant ho gayi. Ab use bhi kuchh kuchh

maza aane laga tha. Usne siskayiyan bharni shuru kar di. Rehana ne

puchha, ab kaisa lag raha hai. Wo boli, ab to maza aa raha hai. Rehana

ne kaha, poora andar ghus jane de tab tujhe aur maza aayega, ye to

abhi shuruat hai. Maine use Chodna jari rakha to thodi hi der baad

usne apna Chootad bhi uthana shuru kar diya.

kramashah...............


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: रेहाना भाभी की चुदाई

Unread post by rajaarkey » 07 Nov 2014 15:56

रेहाना भाभी की चुदाई --7

गतांक से आगे.........

थोड़ी देर की चुदाई के बाद लाली झाड़ गयी. उसकी चूत और मेरा लंड

अब एक दम गीला हो चुका था. मैने अपनी स्पीड धीरे धीरे बढ़ानी

शर कर दी. लाली पूरे जोश में आ चुकी थी. वो ज़ोर ज़ोर से

सिसकारियाँ भर रही थी. मैने हर 4-6 धक्के के बाद एक धक्का थोड़ा

ज़ोर से लगाना शुरू कर दिया. इस से मेरा लंड थोड़ा थोड़ा कर के उसकी

चूत में और ज़्यादा गहराई तक घुसने लगा. जब मैं तेज धक्का लगा

देता था तो लाली केवल एक आह सी भरती थी. वो इतने जोश में आ

चुकी थी कि उसे अब ज़्यादा दर्द महसूस नहीं हो रहा था. मैं इसी

तरह से उसे चोदता रहा.

थोड़ी देर की चुदाई के बाद ही लाली फिर से झाड़ गयी. अब तक मेरा

लंड उसकी चूत में 7" अंदर घुस चुका था. मैने अपनी स्पीड बढ़ाते

हुए उसकी चुदाई जारी रखी. थोड़ी ही देर में मेरा पूरा का पूरा

लंड उसकी चूत में समा गया. रेहाना ने जब देखा कि मेरा पूरा लंड

उसकी चूत में घुस चुका है तो उसने लाली से कहा, इनका पूरा का

पूरा लंड तेरी चूत के अंदर घुस गया है. अब तुझे केवल मज़ा

आएगा. वो बोली, मुझे विश्वास नहीं हो रहा है. रेहाना ने कहा, अगर

तुझे विश्वास नहीं हो रहा है तो हाथ लगा कर देख ले. लाली ने

हाथ लगा कर देखा तो बोली, दीदी, ये पूरा अंदर कैसे घुस गया,

मुझे तो कुच्छ पता ही नहीं चला. रेहाना ने कहा, जब तू थोड़ी देर की

चुदाई के बाद पूरे जोश में आ गयी थी तब ये बीच बीच में

ज़ोर का धक्का लगा देते थे. जिस से इनका लंड थोड़ा थोड़ा कर के तेरी

चूत के अंदर घुस जाता था. तू जोश में थी इस लिए तुझे कुच्छ

पता ही नहीं चला.

मैने अपनी स्पीड और तेज कर दी क्यों कि अब मैं झड़ने वाला था. 2 मिनट

के अंदर ही मैं झाड़ गया तो लाली भी मेरे साथ ही साथ फिर से

झाड़ गयी. मैने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाल कर लाली से

पूछा, चॅटोगी. उसने मेरा लंड देखा तो उस पर जूस के साथ थोड़ा

खून भी लगा हुआ था. वो बोली, जीजू, इस पर तो खून भी लगा हुआ

है. मैं अगली बार चाट लूँगी. रेहाना ने कहा, तेरी चूत का ही तो

खून है और ये पहली पहली बार निकला है, चाट ले इसे. वो बोली, तुम

कहती हो तो मैं चाट लेती हूँ. उसने मेरा लंड चाट चाट कर सॉफ कर

दिया. रेहाना ने पूछा, चुदवाने में मज़ा आया. वो बोली, हां, मज़ा तो

आया लेकिन ज़्यादा नहीं. रहना ने पुछा, क्यों. वो बोली, जब मुझे ज़्यादा

मज़ा आना शुरू हुआ तो जीजू झाड़ गये. रेहाना ने कहा, अगली बार ज़्यादा

मज़ा आएगा. इस बार तो इनका सारा वक़्त तेरी चूत में रास्ता बनाने

में ही लग गया.

मैं लाली के बगल में लेट गया. वो मेरी पीठ को सहलाते हुए मुझे

चूमती रही. 10 मिनट में ही मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. मैने

लाली को डॉगी स्टाइल में कर दिया और उसकी चुदाई शुरू कर दी. उसे

इस बार चुदवाने में ज़्यादा मज़ा आया और मुझे भी. उसने इस बार

पूरी मस्ती के साथ खूब जम कर चुदवाया. मैने भी उसे पूरे जोश

के साथ बहुत ही ज़ोर ज़ोर के धक्के लगाते हुए खूब जम कर चोदा.

इस बार मैने लगभग 35 मिनट तक उसकी चुदाई की. लाली इस दौरान 4

बार झाड़ गयी थी.

मैं लाली के बगल में लेट गया. हम सब आपस में बातें करते

रहे. लगभग 1 घंटे के बाद रेहाना ने मुझसे कहा, क्यों जी, तुम मुझे

आज नहीं चोदोगे क्या. साली की कुँवारी चूत का मज़ा पा कर मुझे भूल

गये क्या. मैने कहा, भला मैं तुम्हें कैसे भूल सकता हूँ, तुम

तो मेरी बीवी हो. मैं रोज रोज घर का ही तो खाना ख़ाता हूँ. कभी

कभी होटेल के खाने का मज़ा भी ले लेना चाहिए. तुम तो मेरे लिए

घर का खाना हो और लाली होटेल का. आज मैने कुँवारी चूत का मज़ा

लिया है इस लिए मैं तुम्हारी चूत को आज हाथ भी नहीं लगाउन्गा.

आज तो मैं तुम्हारी गांद मारूँगा. रेहाना बोली, फिर मारो ना. लाली बोली,

जीजू क्या कह रहे हो. मैने कहा, ठीक ही कह रहा हूँ. ये कभी

कभी मुझसे गांद भी मरवाती है. गांद मरवाने में भी खूब मज़ा

आता है. तुम भी मर्वओगि. वो बोली, पहले आप दीदी की गांद मार लो.

ज़रा मैं भी तो देखूं की दीदी आप का इतना लंबा और मोटा लंड अपनी

गांद के अंदर कैसे लेती है.