दामिनी compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit psychology-21.ru
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: दामिनी

Unread post by rajaarkey » 23 Dec 2014 08:49

हम सब निढाल थे और एक दूसरे से लिपटे ...एक दूसरे से चिपके बेसूध हो कर पड़े थे ..किसकी टाँगें किसके उपर ..किसकी बाहें किस से लीपटि ...कोई होश नहीं था ...बस हम पाँच शरीर थे एक दूसरे से गूँथे हुए , चिपके हुए ....जैसे लताये एक दूसरे से लिपट ती हैं ....ऐसे ही लिपटे , चिपके हमे कब नींद ने अपनी गोद में ले लिया किसी को होश नहीं था ..

जब तक हमारी गर्मी की छुट्टियाँ थी ..ऐसी कितनी रातें हम सब ने साथ बीताई ...और जाने कब छुट्टियाँ ख़त्म हो गयीं ...ऐसा लगा जैसे कल ही तो कॉलेज बंद हुआ था ....दिन उड़ते हुए निकल गये जैसे पंख लग गये थे ...

मेरा कॉलेज का फाइनल एअर था ....

एक दिन मम्मी ने मुझे बड़े प्यार से अपने बगल बिठाया और कहा " दामिनी .बेटा तू अब काफ़ी बड़ी हो गयी है ...कुछ अपने बारे सोचा है आगे क्या करेगी ..?? तेरे कॉलेज का भी फाइनल एअर है .."

" हाँ मम्मी हाँ देखो ना मैं कितनी बड़ी हो गयी ..." और मैने अपनी चुचियाँ थामते हुए उन्हें दिखाई , जो अब एक मीडियम साइज़ बेल के आकार में थी ...

मम्मी हंसते हुए उन्हें अपने हाथों मे लीया और चूम लिया ...

" हाँ देखा ना ..तेरी चुचियाँ कितनी मस्त और बड़ी बड़ी हैं ..अरे क्या जिंदगी भर पापा और भैया से मसलवाएगी इतनी मस्त चुचियाँ ..? "

मैं समझ गयी उनका इशारा मेरी शादी की तरेफ था ...

" तुम भी ना मम्मी ..." और मैने अपना सर उनकी चूचियों के बीच छुपा लिया .

" देख मैं समझती हूँ बेटा ....पर दुनिया को तो दीखाना ही होगा ना ....कब तक ऐसे रहेगी ....'

"क्या करूँ मम्मी ..मैं पापा और भैया से अलग नहीं रह सकती बस ....उनके लौडे के बिना मैं जिंदा नहीं रह सकती और ना तुम्हारे बिना .....बोलो मैं क्या करूँ ...?'

'" देख एक रास्ता है ..''मम्मी ने कहा

" तो बताओ ना मोम ..जल्दी बताओ ..."

" सलिल है ना तुम्हारा बॉय फ्रेंड ....उसे तू कभी यहाँ ले आना ... और उसे भी अपने में शामिल करने की कोशिश कर ....फिर तेरी शादी हो जाएगी उस से और अपना काम भी चलता रहेगा ...वो तुझ से कितना प्यार करता है ....जब तू पापा के साथ गयी थी , तुझ से मिलने यहाँ आया था ..मुझे तो भा गया है वो लड़का ...."


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: दामिनी

Unread post by rajaarkey » 23 Dec 2014 08:50

" ओह मम्मी , यू अरे ग्रेट ..मैने इस बारे में ज़्यादा सोचा नहीं था ...बस एक दो बार भैया से बात हुई थी ....प्यार तो मुझ से बहुत करता है .....पर इस हद तक उसे लाने की बात ....ठीक है मोम मैं पापा और भैया के लिए उसे भी अपने में शामिल करने की कोशिश में लग जाती हूँ ..."

"हाँ ....और मैं भी इसमें तेरी पूरी मदद करूँगी ..." मम्मी ने चहकते हुए कहा ...

और अगले दिन ही से मैं जूट गयी सलिल के पीछे ....

सलिल को रास्ते में लाने में मुझे कोई खास परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा . उसके दो कारण थे , एक के वो मुझ से बेहद प्यार करता था ....और दूसरा था मम्मी की बेजोड़ सेक्स अपील और खूबसूरती ....

मम्मी की चकाचौंध रूप रंग ने सलिल को विस्मित कर दिया था ..मेरे प्यार ने उस पर एक और परत डाल दी ...

मम्मी की मुलायम मुलायम चुचियाँ ..भरे भरे पर सुडौल चूतड़ , केले के तुम सी जांघों के सामने उसके लंड ने घूटने टेक दिए ....वो मेरे और मम्मी के लिए पागल हो उठा था ....

अब हाल ये था के उस ने अपने घर वालों से कह दिया के अगर वो शादी करेगा तो मुझ से वरना जिंदगी भर कुँवारा ही रह जाएगा ...

हमें तो मनचाही मुराद मिल गयी थी ..

ये तय हो गया के हम दोनों की कॉलेज की पढ़ाई ख़त्म होते ही हम दोनों की शादी हो जाएगी ...

और हम दोनों की शादी हो गयी ....

मैं ससुराल पहुचि .बड़े लाड प्यार से मेरे सास , ससुर ने हमारा स्वागत किया ..

मैं अब घर से बाहर आ गयी थी ...

पर हमारा घर से रिश्ता वैसा ही था ...बीच बीच में मैं अपने घर जाती और पापा और भैया से पूरी तरह मिलती ..और तब तक मम्मी सलिल का ख़याल रखती ....

ससुराल में कुछ दिन बीतने पर धीरे धीरे मुझे वहाँ के रंग ढंग समझने का मौका मिला ..

और जब मुझे समझ आई पूरी बात मैं अवाक रह गयी..

और तब मुझे समझ आया के सलिल का मेरे परिवार से रिश्ता जोड़ने का तीसरा और सब से आहेम कारण क्या था ......!!

samaapt

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: दामिनी

Unread post by rajaarkey » 23 Dec 2014 08:50



Daamini--37

gataank se aage…………………..

Donon buri tarah chipake THE ek doosre se ...MAMMI bhi Payal Aunty ki chudaai dekhte dekhte buri tarah chudasi thi aur main bhi .....meri to choot phadak rahee THEe ...lauDa andar lene ko betab THEe

Tabhi Papa ne meri chuTaD ko thaamate hue mujhe aur upar kar liya ...apni gardan tak mujhe utha liya ..maine apni tangein unke gardan ke donon or rakhte hue sofe ki peeth par teeka diya ..meri choot Papa ke munh ke samne THEe ... Papa ne apni ungli se meri choot ki gulabi phankon ko alag kiya ....aur apni laplapati jeebh se chaaTne lage ..poori lambai tak ....uffff ..main kanp uthee ..meri tangon ne unhein aur bhi joron se jakad liya ...unki jeebh sataasat choot ki safai kiye ja rahee THEe ...mera poora badan sihar jata ..phir unhone apne honthon se meri choot ko jakad liya aur badi joron se choosna shuru kar diya ..mujhe aisa laga meri choot se ras ki dhar nikal rahi hai aur unke munh mein ja rahee hai.......lag raha tha jaise mera poora badan koi neechod raha ho ......Papa ne mere chuTaD bhi bade joron se jakad rakha tha .....

MAMMI ka munh aur merin choot ki achhee chusaai ho rahee THEe .... Bhaiyaa ke lund ki ghisai bhi ho rahee THE MAMMI ke kamarband se ....aur Papa ka lund hawa mein lehra raha tha , ek dam tannaya ...

HUm sabhi seesak rahe THE , siskariyan bhar rahe THE ....UUUUU....aaaaaaaaaaah ....ufffffff ....

'Papa ...Papa ....ab aur nahin ...dekhiye na aap ka lund kitna kadak hai..aur meri choot kitni geeli ....ab plzzz Daal do na lund mere andar ..plzzz Papa ...." maine apne hath peeche karte hue unka lund tham liya aur kaha.

" HAN ..meri raani beti ..han .....main bhi tadap raha hoon kai deeon se tumhari choot ke liye .....lo lo mera lauDa ..lo ...." Aur aisa kehte hue mujhe unhone thoda neeche kar diya ...main unka lauDa apne haath me jad se thaamate hue apni choot uske upar rakh baith gayi .....choot itni geeli THEe ..poora lund jad tak samaan gaya ......aur itni siharan hui mujhe , maine Papa ko jakad liya ...unse buri tarah lipat gayi ...aur Papa neeche se dhakke lagane lage aur main bhi unke dhakke mein tal milate hue upar neeche hone lagi .....meri peeth jhooki THEe ..mera chuTaD upar utha tha ..aur gaanD ke hole khoole THE ....main Papa ke kamar jakad unhein chod rahee thee ..sataasat fatcha fatch ..

Tabhi shayad MAMMI ne meri gaanD ki gulabi hole dekh lee thee ...unhone kaha " Ufffff Daamini ..kya gaanD ki hole hai re teri ..man karta hai chaaT jaoon ......"

Aur phir unhone Bhaiyaa ko apne upar se hataya aur unse phoosphoosate hue kuch kaha ,,mujhe sirf awaaz sunai dee ..main to bas Papa se chudne mein mast thee ...

Thodi der baad mujhe apni gaanD ki hole mein kuch thandak maehsoos hui aur kuch geelapan bhi ..thoda peeche mood kar dekha to MAMMI doggy position mein bilkul peeche khadee thi ..kamar jhukaye ..jis se unka choot aur gaanD donon upar uthe THE aur Bhaiyaa apna tannaya lauDa hath mein liye soch rahe THE ke kahan se shuru karoon ..MAMMI ki gaanD yah choot ..?? Donon hole mast THE unke aur MAMMI jhooki hui meri gaanD chaaT rahee thi .......

Uffff main to jaise swarg mein thee ..Papa ka lund choot mein aur MAMMI ki laplapati jeebh meri gaanD ke hole mein .....gaanD chaaTne se choot bhi sihar jati ...."oooooooooooooh uuuuuuuuuuuu ...aahhhh " ki rat main lagayi THEe

Aur udhar Bhaiyaa peeche se MAMMI ki kamar jakadte hue pehle unki gaanD par hamla bol diya .....maine peeche sar mod kar dekha .....MAMMI cheehoonk gayeen aur unka mera gaanD chaaTna aur tezi pakad liya .....aur meri choot lagatar Papa ke lund ko sharabor kiye ja rahee THEe ..Papa ko dhakke lagane mein khoob maza aa raha tha ..itni geeli ho gayee THEe meri choot .....pani jaise beh raha tha ...itni pphislan THEe andar ..Papa thoda sa push karte aur lund phisalta hua jad tak phoonchta tha

Aur Bhaiyaa ke lund ko to do do hole ka maza mil raha tha ..wey bari bari se MAMMI ki gaanD aur choot donon ka maza le rahe THE ..do bar gaanD mein Daalte to do baar unki choot mein .....MAMMI kehti jateen ....

"Wah ..wah mere raja ..aakhir hai to mera beta ..ab chudaai expert ho gaya hai ...han han aaj phad Daal meri gaanD aur choot ....ufffffffffff .....aaaaaaaaaaahhh ........hai ..haii ..uiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii"

Aur unka mera gaanD chaaTna khoob tez ho gaya tha ..unke chaaTne se gaanD ka hole khool gaya tha ..MAMMI ab jeebh andar Daal dee meri gaanD mein aur jeebh se meri gaanD chodane lageen .......'

Meri choot aur gaanD donon chud rahe THE ....choot mein Papa ka lund aur gaanD mein MAMMI ki jeebh ..Maan aur Baap donon beti ko chod rahe THE

Beta Maan ki gaanD aur choot donon le raha tha ..kya chudaai THEe ..poori family ek saath .......ufffffff ....us din jaisa maza kabhi nahin aaya ..

Papa ke dhakke jor pakadte gaye ..mera bhi unke lund par uchalna unke dhakkon ke saath tal milata tha ..aur MAMMI ki chudaai jitni jor pakadti utne joron se meri gaanD jeebh Daal detin ..unki to gaanD aur choot donon bari bari se chud rahe THE ....

Aur Payal aunty lagatar apni choot mein ungli Daale ja raheen thi ..pair phailaye ...haiii haiiii uff uffff kar rahee thi

Phir Papa aur Bhaiyaa ke dhakkon ne badi jor pakad lee ..MAMMI ki kamar jhook jateen